Search This Website

Thursday, September 14, 2017

250 करोड़ के बंगले में रहती हैं राधे मां, अंदर से ऐसा आता है नजर

250 करोड़ के बंगले में रहती हैं राधे मां, अंदर से ऐसा आता है नजर



अखाड़ा परिषद द्वारा जारी 14 फर्जी बाबाओं की लिस्ट में खुद को देवी अवतार बताने वाली सुखविंदर कौर उर्फ राधे मां का भी नाम है। राधे मां अलग-अलग वजहों से पिछले कुछ सालों के दौरान सुर्खियों में रही हैं।








आज हम आपको बताने जा रहे हैं, दुनिया की मोह-माया में दिलचस्पी न होने का दावा करने वाली राधे मां कैसी लाइफ जीती है। आज हम आपको उनके बंगले और उनके लाल रंग के प्यार के बारे में बताने जा रहे हैं। 







राधे मां का मुंबई के चिकूवाड़ी में स्थित नंद नंदन भवन नाम का आलीशान बंगला है। 
महंगे मार्बल्स की फ्लोरिंग वाले इस बंगले की कीमत करीब 250 करोड़ रुपए बताई जाती है।










जिस कमरे में राधे मां अपने भक्तों से मिलती है, वहां मखमली बिस्तर, एसी, फैंसी लाइटिंग समेत तमाम सुविधाएं मौजूद हैं। भक्तों से राधे मां एक खास कमरे में मिलती है, जिसमें बिस्तर से लेकर परदे तक सभी लाल होते हैं।







 जिस कमरे में राधे मां अपने भक्तों से मिलती है, उसके बिस्तर के ठीक ऊपर मां दुर्गा की मूर्ति भी है। राधे मां के मुताबिक, वह अपने भक्तों के घर में रहती हैं, लेकिन मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक उनके पास करीब 1 हजार करोड़ की प्रॉपर्टी होने के आरोप हैं।










गले में अवैध निर्माण का भी आरोप

500 वर्गमीटर में बना यह बंगला राधे मां के बेटे हरजिंदर मोहन सिंह के नाम पर है, जिसे 2009 में खरीदे गए प्लॉट पर बनाया गया था। 
एक शिकायतकर्ता रमेश जोशी ने आरोप लगाया था कि बंगले का निर्माण म्युनिसिपल कॉर्पोरेशन के नियमों की धज्जियां उड़ाते हुए अनाधिकृत रूप से किया गया है। 








उन्होंने यह भी आरोप लगाया था कि आधिकारिक तौर पर इस प्लॉट को खरीदने के लिये महज 1 करोड़ 65 लाख रुपये अदा किये गये। लेकिन वास्तव में इसके लिये करीब 30 करोड़ रुपये ब्लैक मनी के तौर पर चुकाए गये हैं।









गाड़ियों का बड़ा काफिला

राधे मां के पास मर्सडीज, होंडा सिटी, फॉर्च्यूनर, जगुआर समेत कई लग्जरी कारें हैं। बताया जा रहा है कि भक्तों का आना-जाना बंद होने के बाद राधे मां की कारें अब उनके सत्संग एरिया में पार्क होती हैं। उनकी सभी गाड़ियों में लाल रंग की सीट, लाल रंग के टायर कवर, यहां तक की गाड़ियों का इंटीरियर भी लाल रंग का है।







कौन है राधे मां?

राधे मां का जन्म पंजाब के गुरदासपुर जिले के एक सिख परिवार में हुआ था।इनकी शादी पंजाब के ही रहने वाले व्यापारी सरदार मोहन सिंह से हुई है।शादी के बाद एक महंत से राधे मां की मुलाकात हुई, जिसके बाद से ही उन्होंने आध्यात्मिक जीवन अपनाया।कुछ समय बाद वह मुंबई आ गई और राधे मां के नाम से मशहूर हो गई। राधे मां के खिलाफ मुंबई, पंजाब, हरियाणा, मध्य प्रदेश और गुजरात में अलग-अलग केस दर्ज हो चुके हैं। दहेज मामले में मुंबई पुलिस उनसे पूछताछ भी कर चुकी है। हालांकि, तमाम आरोपों को राधे मां ने गलत बताया है।










No comments:

Post a Comment