Search This Website

Wednesday, September 20, 2017

इस मंदिर में इस वजह से आते हैं लड़के-लड़कियां, कुछ दिन बाद होता है ये

 इस मंदिर में इस वजह से आते हैं लड़के-लड़कियां, कुछ दिन बाद होता है ये



देश के कोने-कोने में भगवान शिव के एक से बढ़कर एक मंदिर हैं। अधिकांश मंदिरों के पीछे कोई न कोई रहस्य और उसकी ऐतिहासिकता है।












हम बता रहे हैं राजस्थान के धौलपुर में स्थित एक ऐसे ही शिव मंदिर के बारे में जहां का रहस्य वैज्ञानिक तक नहीं सुलझा पाए हैं।









धौलपुर जिले के बीहड़ों में स्थित अचलेश्वर महादेव जी का मंदिर है। इस मंदिर में शिवलिंग दिन में 3 बार अपना रंग बदलता है










शिवलिंग का रंग दिन में लाल, दोपहर को केसरिया और रात को सांवला हो जाता है।









शिवलिंग के रंग बदलने के पीछे क्या वजह है इसका जवाब अब तक किसी वैज्ञानिक को नहीं मिल सका है।










कई बार मंदिर में रिसर्च टीमें आकर जांच-पड़ताल कर चुकी हैं। फिर भी इस चमत्कारी शिवलिंग के रहस्य से पर्दा नहीं उठ सका है।








चमत्कारी शिवलिंग के विषय में ऐसा माना जाता है कि जो भी कुंवारा या कुंवारी यहां शादी से पहले मन्नत मांगने आते हैं तो बहुत जल्दी उनकी मुराद पूरी हो जाती है।











यहां शिवजी की कृपा से लड़कियों को मनचाहा वर भी मिल जाता है।यहां के लोग बताते हैं कि ऐसे लाखों लोग हैं जिनकी शादी नहीं हो रही थी, लेकिन मंदिर में शिवलिंग की पूजा करते ही उनकी शादी हो गई।









यहां आने वाले भक्तों की मानें तो शिव मंदिर करीब हजार साल पुराना है।








मंदिर के बीहड़ में होने से पहले यहां भक्त डर की वजह से कम आते थे, क्योंकि यहां जंगली जानवरों और डाकुओं का आना-जाना था। अब हालात बदलने लगे हैं और दूर-दूर से लाखों की संख्या में भक्त यहां आने लगे हैं।



No comments:

Post a Comment