Search This Website

Thursday, October 12, 2017

नीली आंखों के पीछे का ये रहस्य आपको चौंका देगा

 नीली आंखों के पीछे का ये रहस्य आपको चौंका देगा


नीली आंखे किसी को भी बेहद खूबसूरत बना सकती हैं। ऐसी आंखों वाले काफी आकर्षक दिखते हैं। लेकिन नीली आंखों से जुड़ा एक अजीब तथ्य आप शायद ही जानते होंगे।












वैज्ञानिकों के अनुसार भूरा रंग मानव की आंखों का वास्तविक रंग है 










और कई शोधों में यह प्रमाणित हो चुका है कि हजारों सालों पहले इंसान के शरीर में डीएनए में हुई कुछ गड़बड़ी के कारण किसी व्यक्ति की आंखें नीली हो गई थी










और वर्तमान में नीली आंखों वाले जितने भी व्यक्ति हैं वह सभी उसी व्यक्ति के वंशज माने जाते हैं।







शोध के मुताबिक जिन लोगों की आंखें नीले रंग की होती हैं उन सभी लोगों के पूर्वज समान हैं












क्योंकि 10,000 साल पहले सभी लोगों की आंखें भूरे रंग की होती थी फिर किसी ने जेनेटिक म्यूटेशन को विकसित किया









जिसकी वजह से लोगों की आंखें नीले रंग की हो गयी थी।










स्पेसिफिक म्यूटेशन (HERC2) के पेश होने के पहले, हर किसी की भूरी आंखे थे।हालांकि यह म्यूटेशन सचमुच जीन को बंद करता है जो हमारे शरीर को हमारी आइरिस में मेलेनिन के उत्पादन करने के लिए कहता है,









केवल नीले रंग छोड़कर। और जिन लोगों के पास नीली आंखें हैं, वे एक व्यक्ति के उत्तराधिकारी हैं जिन्होंने सबसे पहले म्यूटेशन किया।









शोधकर्ताओं ने यह अनुमान लगाया कि म्यूटेशन पहली बार उस समय के आसपास हुआ था जब मानव अब यूरोप के रूप में पहचाने जाने वाले महाद्वीप चले गए, जो बताता है कि क्यों यूरोपीय मूल के कई लोगों की नीली आंखें हैं।



No comments:

Post a Comment