Search This Website

Sunday, January 28, 2018

जानिए, कैसी हो बच्चों की फूड हैबिट्स तो बच्चे रहेंगे स्वस्थ

 जानिए, कैसी हो बच्चों की फूड हैबिट्स तो बच्चे रहेंगे स्वस्थ



अच्छा स्वास्थ्य रातोरात मिलने वाली चीज नहीं है। इसके लिए कठिन मेहनत करनी पड़ती है। अच्छी आदतों को जीवन में उतारना होता है।  













खान-पान पर नियंत्रण भी जरूरी होता है। क्या खाना है और क्या नहीं खाना है, इन बातों पर विशेष ध्यान देना पड़ता है। 










इस मामले में बच्चों पर काफी ध्यान देने की जरूरत है। एक तो उन्हें यह पता नहीं होता कि उनकी सेहत के लिए क्या खाना सही है













और क्या नहीं, दूसरा ये कि वो अपनी इच्छाओं पर नियंत्रण भी नहीं रख पाते। ऐसे में उनकी सेहत का मामला काफी संवेदनशील हो जाता है। बच्चों की इन आदतों को अच्छी आदतों में बदलने के लिए उनके पैरंट्स पर बड़ी जिम्मेदारी होती है।








बच्चों के खाने-पीने की आदतों में पूरी तरीके से बदलाव संभव नहीं हो पाता। ऐसे में जो उनकी सेहत के लिए ज्यादा जरूरी हैं वे आदतें डलवाना उनकी सेहत के लिए आवश्यक है। आज हम आपको ऐसी ही कुछ आदतों के बारे में बताने जा रहे हैं जिनकी वजह से आपका बच्चा हमेशा बीमारियों से दूर रहेगा।










बड़ों के लिए अपने बिजी शेड्यूल में हर दिन नाश्ता कर पाना हमेशा संभव नहीं हो पाता। लेकिन बच्चों के विकास के लिए एक भी दिन नाश्ता छोड़ देना उनकी सेहत के लिए काफी नुकसानदेह हो सकता है। एक शोध में यह बताया गया है 












कि जो बच्चे नाश्ता छोड़ने के आदती होते हैं उनमें कुपोषित होने का खतरा ज्यादा हो जाता है। शोध में उन बच्चों में महत्वपूर्ण पोषक तत्वों जैसे कैल्शियम, आयरन और आयोडीन की पर्याप्त मात्रा पाई गई जो नियमित रूप से नाश्ता करने के आदती थे। जबकि नाश्ता छोड़ देने वाले बच्चे इस मुकाबले में काफी पीछे थे।













बच्चों को स्नैक्स खाने का बड़ा शौक होता है। खेलते हुए अपनी भूख मिटाने के लिए वो इसका इस्तेमाल ज्यादा करते हैं। ऐेसे में पैरेंट्स को चाहिए कि अपने बच्चों को घर पर समोसे-पकौड़े आदि की आदत न डलवाएं बल्कि उसके बदले किसी हेल्दी स्नैक्स का विकल्प ढूंढें। 









बच्चों को आइसक्रीम, कैंडीज और बबल गम्स भी काफी पसंद होते हैं। इनमें मौजूद सुगर आगे चलकर उनमें डायबिटीज जैसी बीमारियों का खतरा बढ़ा सकता है। ज्यादा चीनी या फिर इससे बने उत्पादों की वजह से बच्चों की सेहत पर काफी बुरा असर पड़ता है।









 एक शोध में यह बात सामने आई है कि भारतीय बच्चे अपनी जरूरत से तीन गुना ज्यादा चीनी का सेवन दिन भर में करते हैं। हरी सब्जियों से बच्चों की पुरानी दुश्मनी लगती है। लेकिन उनके शारीरिक और मानसिक विकास के लिए हरी सब्जियों की बहुत जरूरत होती है। इनसे स्वादिष्ट डिश बनाकर आप बच्चों में हरी सब्जियों को खाने की आदत डलवा सकते हैं।





No comments:

Post a Comment