Search This Website

Monday, April 2, 2018

मार्च में गर्मी ने तोड़ा 7 साल का रिकॉर्ड, पारा 41 के पार; हफ्तेभर हालात ऐसे ही रहने का अनुमान

 मार्च में गर्मी ने तोड़ा 7 साल का रिकॉर्ड, पारा 41 के पार; हफ्तेभर हालात ऐसे ही रहने का अनुमान






Open this link :- अब रोज पाये facebook पर "मेरा देश India" की all (news)




मुंबई में रविवार को तापमान 41 डिग्री पर पहुंच गया। इसमें एक दिन में ही 8 डिग्री का उछाल आया। मार्च के महीने में इतना तापमान अमूमन नहीं होता। इससे पहले 2011 मार्च में पारा 41 डिग्री तक पहुंचा था। 













मार्च में सबसे ज्यादा तापमान 1956 में 41.6 डिग्री दर्ज किया गया था। मौसम विभाग के मुताबिक, इस हफ्ते हालात ऐसे ही रहने का अनुमान है।









एक दिन में इतना पारा क्यों चढ़ा?



मुंबई के क्षेत्रीय मौसम विभाग के मुताबिक, रविवार को मुंबई का पारा 41 डिग्री सेल्सियस और न्यूनतम 21.4 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया। मौसम विशेषज्ञ दिनेश मिश्रा ने बताया कि अरब सागर में बना अधिक दबाव का क्षेत्र (एंटी साइक्लोन) सौराष्ट्र के समीप बढ़ा है। जब ऐसे हालात बनते हैं तो मुंबई समेत आसपास के इलाकों में तापमान बढ़ जाता है। मुंबई के लोगों को पूरे हफ्ते गर्मी की मार झेलनी पड़ेगी।













2) एक दिन में बढ़ा 8 डिग्री तापमान


सांताक्रूज मौसम विभाग के मुताबिक, शनिवार को मुंबई का अधिकतम तापमान 33 डिग्री सेल्सियस था। सिर्फ एक दिन में पार 8 डिग्री सेल्सियस बढ़कर 41 तक पहुंच गया। 







जबकि, कोलाबा मौसम विभाग ने शनिवार को अधिकतम तापमान 38 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया, जो सामान्य से 6 डिग्री सेल्सियस ज्यादा था।








 ठाणे में भी पारा 42 पहुंचा


बढ़ती गर्मी का असर मुंबई से सटे ठाणे में भी महसूस किया गया। यहां रविवार को तापमान 42 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया। गर्मी के मामले में ठाणे ने अपना ही 15 दिन पुराना रिकॉर्ड ब्रेक किया है। 











12 मार्च को दोपहर 3:00 से 4:00 बजे के बीच यहां का तापमान 41 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया था। प्रदूषण नियंत्रण विभाग के प्रमुख मनीष प्रधान ने बताया कि अप्रैल और मई महीने का तापमान 40 डिग्री सेल्सियस के ऊपर जाता है, 













लेकिन इस साल तापमान मार्च महीने में ही 42 डिग्री सेल्सियस पहुंच चुका है।









मौसम विभाग के आधे अनुमान गलत


क्षेत्रीय मौसम विभाग द्वारा पिछले साल बारिश को लेकर लगाए गए आधे अनुमान गलत निकले। आरटीआई से मिली जानकारी के मुताबिक, 2017 में इंडियन मेट्रोलॉजिकल डिपार्टमेंट, मुंबई द्वारा 32 बार भारी बारिश की चेतावनी दी गई, जिसमें से सिर्फ 17 सही निकलीं। 








मौसम विशेषज्ञ दिनेश मिश्रा ने बताया कि महाराष्ट्र बड़ा राज्य है, लेकिन कहीं ना कहीं मौसम विभाग की लापरवाही और नाकामी इससे साबित होती है।





No comments:

Post a Comment